दो लोगों की हत्या की फिराक में था इनामी बदमाश

जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़ : एसटीएफ की ओर से गिरफ्तार किया गया 50 हजार का इनामी बदमाश मंजीत फिलहाल अपने ही गांव के दो लोगों की हत्या की फिराक में था। वह जेल से आने के बाद अपने गांव में ही एक शख्स को गोली मारकर फरार हुआ था। उस पर पहले से ही दुष्कर्म समेत कई आरोपों में केस दर्ज हैं।

एसटीएफ ने 50 हजार के इनामी बदमाश मंजीत निवासी बुपनिया और उसके साथी रवि निवासी को बहादुरगढ़ बाइपास के फ्लाई ओवर के नीचे से शनिवार को काबू किया। एसटीएफ के डीएसपी कप्तान सिंह ने बताया कि 50 हजार का इनामी बदमाश मंजीत अपने गांव के ही दो लोगों को रंजिश के चलते मौत के घाट उतारने की फिराक में था। वह इसकी कोशिश में जुटा था। मगर इससे पहले ही उसके बारे में एसटीएफ को सूचना मिल गई। इस दौरान उसका साथी रवि भी पकड़ा गया। मंजीत पर कई मामले दर्ज हैं। जिनमें हत्या का प्रयास, अवैध हथियार रखने, हवाई फायर समेत कई अन्य मामले शामिल हैं। जबकि रवि पर 9 केस दर्ज है जिनमें 2 केस राजस्थान में भी दर्ज हैं। राजस्थान में लूट व शराब तस्करी का केस दर्ज हैं। पहले के मामलों में जब वह जेल से जमानत पर बाहर आया तो गांव के ही राम भगत पर गोली चला दी थी। इसमें रामभगत जख्मी हो गया था। तब से ही वह फरार था और पुलिस उसकी तलाश में घूम रही थी। —-गांव में खून की होली खेलना चाहता था मंजीत डीएसपी ने बताया कि बुपनिया गांव के ही शेखर के साथ मंजीत की रंजिश चली आ रही है। इसी के चलते ही वह अपने ही गांव के एक व्यक्ति के अलावा अपने साथी रवि के साथ रंजिश रखने वाले एक अन्य शख्स की हत्या करने के इरादे से ही घूम रहा था। उसकी गिरफ्तारी से ये वारदात टल गई। दोनों अभियुक्तों को न्यायालय में पेश कर पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया जाएगा। पूछताछ में अन्य वारदातों के बारे में भी कुछ जानकारी मिल सकती है।

Posted By: Jagran