पूर्व भारतीय कप्तान के खिलाफ धोखाधड़ी के मामले में FIR, 2007 में हुई थी पहली बार शिकायत

हैदराबाद, एजेंसी। पूर्व भारतीय कप्तान और Team India की तरफ से तीन-तीन ओलंपिक में खेलने वाले पूर्व कप्तान मुकेश कुमार (Mukesh Kumar) एक विवाद में फंस गए हैं। उन पर फर्जी जाति प्रमाण पत्र (Cast Certificate) बनवाकर नौकरी हासिल करने के मामले में IPC की धारा 420 और 471 के तहत FIR दर्ज की गई है।

मिली खबर के मुताबिक सिकंदराबाद के बोवनपेली पुलिस स्टेशन में मुकेश और उनके भाई एन. सुरेश के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है। दरअसल इस मामले की शुरुआत साल 2007 में हुई थी। उस वक्त मुकेश और उनके भाई के खिलाफ शिकायत पर इंडियन एयरलाइंस के विजिलेंस विभाग ने जांच शुरू की थी।

Mukesh Kumar

दोनों भाईयों के खिलाफ शिकायत थी कि वह पिछड़ी जाति के हैं, लेकिन उन्होंने खुद को अनुसूचित जाति का बताकर नौकरी हासिल कर ली थी। जांच के दौरान हैदराबाद के कलेक्टर से भी उनके जाति प्रमाणपत्र की पुष्टि की गई थी।

पूर्व कप्तान के खिलाफ 25 जनवरी को FIR दर्ज की गई थी, लेकिन इस मामले की जांच में अभी तक कोई प्रगति नहीं हो पायी है। एक प्रमुख अंग्रेजी अखबार के मुताबिक बोवनपेली के थानेदार ने बताया कि एक-दो दिन के भीतर ही इस पर कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि मुकेश कुमार ने भारत के लिए 307 मैच खेले हैं और इस दौरान उन्होंने 80 गोल भी किए। साल 1992 के बार्सिलोना, 1996 के अटलांटा और साल 2000 के सिडनी ओलंपिक में वह भारतीय टीम का हिस्सा रहे थे।

Posted By: Digpal Singh