टोक्यो ओलंपिक से पहले 200 किलोग्राम वजन उठाना लक्ष्य : मीराबाई



Sports

FacebookTwitterGoogle PlusLinkedin

नई दिल्ली : चोट के बाद सफल वापसी करने वाली भारत की शीर्ष भारोत्तोलक मीराबाई चानू को पता है कि अगर उन्हें तोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतना है तो अपने प्रदर्शन में सुधार करने की जरूरत है। विश्व चैंपियनशिप 2017 में 48 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक जीतने वाली मीराबाई कमर की चोट के कारण 8 महीने तक टूर्नामेंटों में हिस्सा नहीं ले पाई। उन्होंने पिछले हफ्ते थाईलैंड में ईजीएटी कप में अपने नए 49 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक जीता। वह 192 किग्रा वजन उठाकर शीर्ष पर रहीं। मीराबाई को हालांकि पता है कि अगर उन्हें अपने नए वजन वर्ग में दुनिया की सर्वश्रेष्ठ खिलाडिय़ों को चुनौती देनी है तो 200 किग्रा से अधिक वजन उठाना होगा।

my aims to break world record before Tokyo Olympics : Mirabai Chanu

मीराबाई ने कहा- एक किग्रा वजन बढ़कर 48 से 49 किग्रा होने से अब सभी भारोत्तोलक अपने कुल भार में इजाफा करने की कोशिश करेंगे। इसके अलावा 53 किग्रा में हिस्सा ले रहे कुछ भारोत्तोलक अब 49 किग्रा वर्ग में आ जाएंगे। इसलिए अब प्रतिस्पर्धा अधिक कड़ी होगी। उन्होंने कहा- मैं ट्रेनिंग के दौरान 199-200 किग्रा वजन उठा रही हूं और अगले कुछ महीनों में असल प्रतियोगिताओं में मुझे 200 किग्रा से अधिक वजन उठाने की उम्मीद है। मेरा लक्ष्य तोक्यो ओलंपिक से पहले 210 किग्रा वजन उठाना है जो विश्व रिकार्ड होगा। यह आसान नहीं होगा लेकिन यह मेरा लक्ष्य है और मुझे पहले से अधिक कड़ी मेहनत करनी होगी।

my aims to break world record before Tokyo Olympics : Mirabai Chanu

मणिपुर की 24 साल की मीराबाई के लिए डेढ साल में 10 किग्रा का सुधार करना आसान नहीं होगा। उनका 48 किग्रा में निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 196 किग्रा है जो उन्होंने पिछले साल गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान उठाया था। उन्होंने विश्व चैंपियनशिप 2017 में 194 किग्रा के साथ स्वर्ण पदक जीता था। अंतरराष्ट्रीय भारोत्तोलन महासंघ (आईडब्ल्यूएफ) ने पिछले साल ओलंपिक और अन्य वैश्विक प्रतियोगिताओं के लिए पुरुष और महिला दोनों भार वर्गो में बदलाव किए थे। ओलंपिक खेलों के महिला वर्ग में अब न्यूनतम वजन वर्ग 48 किग्रा से बढ़ाकर 49 किग्रा कर दिया गया है। 
my aims to break world record before Tokyo Olympics : Mirabai Chanu

तुर्कमेनिस्तान में 2018 विश्व चैंपियनशिप नए वजन वर्ग में हुई थी और स्वर्ण, रजत तथा कांस्य पदक जीतने वाले खिलाडिय़ों ने क्रमश: 209, 208 और 206 किग्रा वजन उठाया था। चौथे स्थान पर रहने वाली खिलाड़ी ने 201 किग्रा वजन उठाया था। मीराबाई ने कहा- अगर मुझे स्वयं को तोक्यो ओलंपिक के स्वर्ण पदक की दौड़ में बनाए रखना है तो 209 किग्रा से अधिक वजन उठाना होगा। एशियाई चैंपियनशिप (अप्रैल में चीन में) और 2019 विश्व चैंपियनशिप (सितंबर में थाईलैंड में) मुझे ऐसा करने का मौका देगी क्योंकि दुनिया की सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी वहां होंगी। उन्होंने कहा, ”मैं ऐसा कर सकती हूं लेकिन इसके लिए मुझे पहले से अधिक कड़ी मेहनत करनी होगी। मैं 209 किग्रा का विश्व रिकार्ड तोडऩा चाहती हूं। तोक्यो ओलंपिक 2020 में महिला वर्ग में सात भारत वर्ग होंगे जिसमें 49 किग्रा, 55 किग्रा, 59 किग्रा, 64 किग्रा, 76 किग्रा, 87 किग्रा और 87 किग्रा से अधिक शामिल हैं।

…..