खत्म हुआ मंगल पर नासा के सबसे ज्यादा चलने वाले रोवर 'अपॉर्चुनिटी' का सफर

{“_id”:”5c648ab4bdec221309520e6b”,”slug”:”longest-running-rover-on-mars-of-nasa-opportunity-pronounced-dead”,”type”:”story”,”status”:”publish”,”title_hn”:”\u0916\u0924\u094d\u092e \u0939\u0941\u0906 \u092e\u0902\u0917\u0932 \u092a\u0930 \u0928\u093e\u0938\u093e \u0915\u0947 \u0938\u092c\u0938\u0947 \u091c\u094d\u092f\u093e\u0926\u093e \u091a\u0932\u0928\u0947 \u0935\u093e\u0932\u0947 \u0930\u094b\u0935\u0930 ‘\u0905\u092a\u0949\u0930\u094d\u091a\u0941\u0928\u093f\u091f\u0940’ \u0915\u093e \u0938\u092b\u0930″,”category”:{“title”:”America”,”title_hn”:”\u0905\u092e\u0947\u0930\u093f\u0915\u093e”,”slug”:”america”}}

अपॉर्चुनिटी रोवर

अपॉर्चुनिटी रोवर
– फोटो : ट्विटर

ख़बर सुनें

खास बातें

  • नासा का ‘अपॉर्चुनिटी रोवर’ अगस्त 2004 में मंगल ग्रह पर उतरा था 
  • रोवर से संपर्क साधने के लिए नासा ने 800 से ज्यादा बार प्रयास किया
  • पिछले साल 10 जून को हुआ था नासा का रोवर से अंतिम बार संपर्क 
  • पिछले साल जून में आए तूफान से आई थी ट्रांसमिशन क्षमता में खराबी
अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी नासा के रोवर अपॉर्चुनिटी का सफर समाप्त हो गया। नासा ने इस रोवर को आखिरकार मृत घोषित कर दिया। नासा का यह रोवर मंगल ग्रह पर सबसे ज्यादा चलने वाला रोवर था। बता दें कि सौर ऊर्जा से संचालित यह रोवर पिथले करीब आठ महीनों से शांत था। नासा इस रोवर से दोबारा संपर्क साधने की कोशिश कर रही थी। पिछले साल जून में आए रेतीले तूफान के चलते अपॉर्चुनिटी की ट्रांसमिशन क्षमता कमजोर हो गई थी। यह रोवर 15 साल पहले 2004 में लाल ग्रह की सतह पर उतरा था। रोवर से संपर्क साधने में जुटे नासा के इंजीनियरों ने तूफान के चलते इसकी आंतरिक घड़ी में खराबी आने की आशंका जताई थी। नासा के एडमिनिस्ट्रेटर जिम ब्रिडेंस्टाइन ने ट्वीट कर बताया कि अपॉर्चुनिटी रोवर से संपर्क साधने के 800 से अधिक प्रयासों के बाद आज हम सफल मंगल मिशन की समाप्ति की घोषणा करते हैं। लाल ग्रह के बारे में जानकारी जुटाने के लिए अपॉर्चुनिटी को 90 दिन का समय तय किया गया था, लेकिन इसने 14 से ज्यादा साल मंगल पर बिताए।

Recommended

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें