Magha Saptami 2019: भगवान सूर्य का सबसे बड़ा व्रत, 7 साल बाद बन रहा दुर्लभ संयोग

Magha Saptami 2019: माघ मास के शुक्ल पक्ष की सप्तमी को माघ सप्‍तमी, अचला सप्तमी या रथ सप्तमी कहा जाता है. इस दिन का काफी महत्‍व है.

Kumbh Sankranti 2019: जानें तिथि, शुभ मुहूर्त, जरूर करें ये काम मिट जाएंगे जन्‍मों के पाप…

कब है सप्‍तमी
इस साल ये तिथि 12 फरवरी को है. इस दिन भगवान सूर्य की पूजा का विशेष विधान होता है.

क्‍या है महत्‍व
इस दिन सूर्यदेव की आराधना का अक्षय फल मिलता है. भगवान सूर्य, भक्तों को सुख-समृद्धि एवं अच्छी सेहत का वरदान देते हैं. इसलिए इसे आरोग्‍य सप्‍तमी भी कहा जाता है.

दुर्लभ संयोग
माघ शुक्ल सप्तमी तिथि पर कृतिका व भरणी नक्षत्र का दुर्लभ संयोग बन रहा है. ऐसा संयोग सात साल बाद बना है. कहा जाता है कि इसी तिथि को ही भगवान सूर्य ने पहली बार प्रकाश प्राप्त किया था.

विवाह मुहूर्त 2019: इस साल है शादियों का बंपर मुहूर्त, यहां से देखें वो शुभ दिन

क्‍या करें इस दिन
सूर्य देव की पूजा करें. उन्‍हें अर्घ्‍य अवश्‍य दें. साथ ही “ॐ ह्रां ह्रीं ह्रौं स: सूर्याय नम:” इस बीज मंत्र का यथाशक्ति जाप करें. व्रत रखें. नमक रहित भोजन करें. हो सके तो गंगा स्नान करें. इस दिन गुड़ का सेवन जरूर करना चाहिए.

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.