Kumbh Mela Naga Sadhu: कुंभ में लगा है साधु-संतों का मेला, अंदाज देखिए निराला

प्रयागराज में महाकुंभ 2019 का आयोजन किया जा रहा है। 14 जनवरी से शुरू हो रहे आस्था के इस कुंभ में श्रद्धालुओं के साथ लाखों साधु-संत प्रयाग पहुंच रहे हैं और करोड़ों लोगों के शामिल होने का अनुमान लगाया जा रहा है। प्रयागराज में हर जगह साधु-संतों का मेला लगा हुआ है, चारों तरफ मनमोहक छवियां नजर आ रही हैं। आइए देखते हैं कुंभ का निराला अंदाज…

1/15हाथ से लंबी मूंछ

वर्षों की साधना से मूंछों को दिया ऐसा रूप, कुभ में हो रही इनकी खूब पूछ।

2/15जग में सब कुछ धुआं-धुआं

चिलम में मस्त साधु बाबा का मस्तमौला अंदाज देखिए। ऐसा लगता है ये जग सब धुआं-धुआं है, आज यहां कल जानें कहां है।

3/15सेल्फी वाले बाबा

इस बार कुंभ में बाबाओं पर भी चढ़ा है सेल्फी का खुमार। बाबा हाथों में सेल्फी स्टिक लेकर अपनी फोटो ले रहे हैं।

4/15शिव रूप हुए अवधूत

रुद्र इनके देवता, रुद्रक्ष इनका गहना। ये हैं नागा साधु जिन्होंने अपने पूरे शरीर को रुद्राक्ष से सजा रखा है। रुद्राक्ष की जटाजूट से माथे पर शिवलिंग बना रखा है।

5/15कुंभ में आए लैपटॉप बाबा

दुनिया डिजिटलाइजेशन की ओर बढ़ रही है तो बाबा भी पीछे क्यों रहें। कुंभ मेले में इन नागा बाबा को देखिए लैपटॉप से दुनिया भर की खबर लेने में लगे हुए हैं। बाबा के साथ दो चेले भी लैपटॉप में झांक रहे हैं।

श्रीपंचायती अखाड़ा और बड़ा उदासीन की पेशवाई से निहाल हुए लोग

6/15कुंभ में बाजा वाले बाबा

कुंभ मेले में साधु-संतों का ऐसा अनोखा रूप देखने को मिलता है जो आम दिनों में नहीं देखा जा सकता। इस तस्वीर में ही देख सकते हैं बाबा बड़ा सा बाजा लेकर भक्ति की तान छेड़ते बढ़े जा रहे हैं। प्राचीन काल में इस तरह के बाजे युद्ध के अवसर पर बजाए जाते थे।

जानिए कैसे बनते हैं नागा साधु, कैसी होती है इनकी जीवनशैली

7/15इस शिवलिंग की बात निराली

कुंभ में इस वक्त आपको हर तरफ साधुओं का मनमोहक अंदाज देखने को मिलेगा। तस्वीर में आप देख सकते हैं कि इन नागा बाबाओं को जिन्होंने अपनी जटाओं और रुद्राक्ष से अपने सिर को ही शिवलिंग बना लिया है।

कुंभ में 14 अखाड़े की होती है पेशवाई, जानें कौन-कौन से हैं अखाड़े

8/15भौतिकता से आध्यात्मिकता को आंच

नगा साधु अपनी हर जरूरत को खुद पूरी करते हैं। इनका जीवन बड़ा ही संघर्षपूर्ण होता है जिसकी झलक आप इस तस्वीर में देख सकते हैं। तन पर भस्म रमाए संगम की रेत पर रोटी पका रहे हैं। एक हाथ में त्रिशूल एक हाथ में पंखा मानो भौतिकता से आध्यात्मिकता को आंच दे रहे हों।

इसलिए नागा साधुओं के धर्म पर कभी संकट नहीं आता

9/15मोरपंखी बाबा का अंदाज देखिए

रंग-बिरंगे वस्त्रों को धारण किए और तन पर भभूत रमाए हुए कुंभ में आए हैं ये मोरपंखी बाबा। एक हाथ में मोरपंख से सजी छड़ी और दूसरे में जप की है माला, ऐसे लगता है मानो राग-रंग से भरी दुनिया से मुक्ति का मार्ग है निकाला।

12 साल बाद लगता है कुंभ, जानें 12 रोचक बातें कम लोगों को पता है यह

10/15इस बार कुंभ में शामिल हुआ किन्नर अखाड़ा

कुंभ में 13 अखाड़ों को ही पेशवाई का अधिकार प्राप्त है। इस बार किन्नर अखाड़ा भी कुंभ में शामिल हुआ है, जिसकी महामंडलेश्वर लक्ष्मीनारायण त्रिपाठी हैं। किन्नर अखाड़ा, जूना अखाड़े में शामिल हो गया है। तस्वीर में लक्ष्मीनारायण त्रिपाठी बच्चों के साथ खेलती हुई नजर आ रही हैं।

71 साल बाद कुंभ में बन रहा ऐसा संयोग, ज्योतिषी बता रहे यह महत्व

11/15कुंभ में साधुओं से आशीर्वाद ले रहे श्रद्धालु

कुंभ में साधुओं का मेला लगता है। श्रद्धालु इस अवसर का पूरा लाभ उठाना चाहते हैं। इस तस्वीर में एक अवधूत साधु महिला श्रद्धालु को आशीर्वाद देते नजर आ रहे हैं।

12/15हैट वाले बाबा संग सेल्फी

इस तस्वीर में देखिए एक नागा साधु सिर पर हैट लगाए हुए विक्टरी का साइन दिखा रहे हैं। कुंभ में आए श्रद्धालु इनके साथ सेल्फी ले रहे हैं। कुंभ ही एक ऐसा अवसर होता है जब नागा साधुओं को आप करीब से देख सकते हैं।

13/15चिलम में मस्त हुए बाबा

कुंभ के मेले में अपनी धुन में खोए हैं बाबा। इस तस्वीर में देखिए डमरू और त्रिशूलधारी बाबा चिलम का कश ले रहे हैं।

14/15डमरूधारी नागा बाबा

कुंभ के मेले में पहुंचे इन नागा बाबा को देखिए। हाथ में विशाल डमरू, साथ में त्रिशूल, तन पर भस्म, निभा रहे हैं नगा साधु होने की रस्म।

15/15मोबाइल पर क्या कर रहे हैं नागा साधु

परंपरा के साधु आधुनिक हो रहे नागा साधु जिसकी झलक आप इस तस्वीर में देख सकते हैं। परंपरा का पालन करते हुए दिगंबर वेष में हैं लेकिन हाथों में मोबाइल लेकर जुड़ रहे हैं दुनिया से।