हरियाणा कच्चा कर्मचारी मंच ने सरकार पर वायदा खिलाफी का लगाया आरोप, आंदोलन की घोषणा

रोहतक। हरियाणा कच्चा कर्मचारी मंच ने सरकार पर वायदा खिलाफी का आरोप लगाते हुए आंदोलन की घोषणा की है। रविवार को मंच की बैठक प्रधान विमल की अध्यक्षता में हुई, जबकि संचालन प्रदीप पावडिया ने किया। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार जल्द से जल्द तमाम विभागों में कार्यरत कच्चे कर्मचारियों को बिना शर्त पक्का करें नहीं तो मंच बीजेपी की जन विरोधी नीतियों को जनता के बीच लेकर जाएगा। 

इसके अलावा प्रदेश सरकार पहले कच्चे कर्मचारियों को पक्का करे और बाद में भर्ती निकाले। साथ ही जिन भी विभागों मे भर्ती निकली हुई है उन्हें तुरंत प्रभाव से वापिस लेने की मांग की। उन्होंने बताया कि सरकार की वायदा खिलाफी के विरोध में मंच ने 19 जनवरी को करनाल, कुरुक्षेत्र, अम्बाला, पंचकूला, यमुनानगर, सिरसा फतेहाबाद, पलवल, मेवात, गुड़गांव और फरीदाबाद जिलों में प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है, अगर सरकार ने कच्चे कर्मचारियों की मांगों को गंभीरता से नहीं लिया तो 24 फरवरी को पंचकुला में प्रदेश स्तरीय प्रदर्शन कर सरकार के खिलाफ आरपार की लड़ाई का ऐलान कर दिया जाएग। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

मंच के नेताओं ने भाजपा से विधानसभा में विधेयक पारित करके कच्चे कर्मचारियों के रोजगार को सुरक्षित करने व जिन कच्चे कर्मचारियों की सेवाएं 240 दिन की हो चुकी है उन सभी को सरकार बिना शर्त पक्का करने की मांग की। अन्यथा सरकार को कच्चे कर्मचारियों के रोष का सामना लोकसभा व विधानसभा चुनाव में भुगतना पड़ेगा।