सिटी पैलेस में पर्यटकों ने लड़ाए पेच

सिटी रिपोर्टर
रंगों की उमंग, खुशियों की फुहार, रेवड़ी की मिठास और रंग-बिरंगी पतंगों की डोर हवा में उड़ी। और सिटी पैलेस म्यूजियम के सर्वतोभद्र की छत से खुशियों की लहर झलकने लगी। मौका था, सिटी पैलेस में मकर संक्रांति के तहत शुरू हुए तीन दिवसीय पतंग महोत्सव का। पहले दिन रविवार को विदेशी पर्यटकों ने रेवड़ी और गजक के साथ पतंग उत्सव मनाया। जयपुराइट्स भी उनके साथ नजर आए। इस मौके पर पिंकसिटी प्रेस क्लब के सदस्यों ने भी फैमिली मेंबर्स के साथ पतंगबाजी की। क्लब के अध्यक्ष अभय जोशी ने बताया कि महोत्सव के दौरान दीया कुमारी फाउंडेशन की ओर से ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ के संदेश के साथ पर्यटकों को पतंगें दी गईं। इस अवसर पर महाराजा सवाई मानसिंह द्वितीय संग्रहालय के प्रशासक, कर्नल एच.एस. जटराना भी उपस्थित थे।

उत्सव के दौरान राजस्थानी लोकगायकों ने राजस्थानी गीतों की प्रस्तुति दी। पर्यटकों के लिए महाराजा सवाई रामसिंह द्वितीय (1835-1880 ई.) के समय की पतंग और चरखियां भी प्रदर्शित की गई थीं। इसके अलावा गुरु गोबिंद सिंह जयंती के अवसर पर आज सर्वतोभद्र चौक में गुरु गोबिंद सिंह की तलवार प्रदर्शित की गई और शबद कीर्तन का आयोजन भी किया गया।

पिंकसिटी प्रेस क्लब की छत पर भी हुई पतंगबाजी

प्रेस क्लब की ओर से रविवार को दोपहर 12 बजे से क्लब की छत पर प्रेस क्लब के सदस्यों ने फैमिली मेंबर्स के साथ पतंगबाजी की गई। क्लब महासचिव मुकेश चौधरी ने बताया कि मकर संक्रांति का त्योहार पारंपरिक लजीज व्यंजनों के साथ पत्रकारों ने परिवार सहित सेलिब्रेट किया। “अपनी छत-अपनी पतंग” थीम पर डीजे बीट्स पर थिरकते हुए पेंच लड़ाए। इस अवसर पर क्लब के पूर्व पदाधिकारी और वरिष्ठ पत्रकार मौजूद थे।


— पूरी ख़बर पढ़ें –