मैक में मनाई लोहड़ी, ढोल की थाप पर थिरके कुरुक्षेत्रवासी

जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : लोक कलाकार सदैव अपनी प्रतिभा तथा हुनर से अपने प्रदेश की संस्कृति का परिचय देते हैं। लोक संस्कृति ही किसी भी प्रदेश को महान बनाती है। लोक कलाकारों द्वारा प्रस्तुत की जानी वाली सांस्कृतिक प्रस्तुतियां न केवल उनके प्रदेश की सभ्यता व संस्कृति का बखान करती है, अपितु उस प्रदेश के सामाजिक परिवेश का भी दर्शन कराती हैं। ये शब्द जिला उपायुक्त एसएस फुलिया ने मैक में हरियाणा कला परिषद् मल्टी आर्ट कल्चरल सेंटर में आयोजित लोहड़ी व संक्रांति उत्सव के समापन कहे। वे मुख्यातिथि के तौर पर पहुंचे थे। इस अवसर पर चंडीगढ़ के कलाकारों द्वारा ह¨रद्र पाल ¨सह के निर्देशन में पंजाबी लोक रंग कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया। वहीं कार्यक्रम की अध्यक्षता विद्या भारती संस्कृति शिक्षा संस्थान के निदेशक डॉ. रामेंद्र ¨सह द्वारा की गई। विशिष्ट अतिथि के रुप में शुभकर्मण चेरीटेबल टस्ट की अध्यक्ष रजवंत कौर, समाजसेवी जयभगवान ¨सगला उपस्थित रहे। कार्यक्रम से पूर्व मैक के क्षेत्रीय निदेशक संजय भसीन ने सभी मेहमानों को पौधा भेंटकर स्वागत किया। कार्यक्रम का संचालन विकास शर्मा व ह¨रद्र पाल ¨सह ने किया। पंजाबी लोक रंग कार्यक्रम की पहली प्रस्तुति पंजाब के वाद्ययंत्र अलगोजा, तुम्बी, डफ, ढोल, चिमटा आदि के साथ पंजाबी आरकैस्ट्रा की रही। जिसमें पंजाब के कलाकारों ने पंजाबी लोकधुनों से उपस्थिति को रुबरु कराया। गायक हरप्रीत ¨सह हनी ने गुरुओं को समर्पित गीत गाकर महान विभूतियों को नमन किया गया। वहीं शीतल कौर ने देशभक्ति से ओतप्रोत गीत मैं पंजाबी मुटियार, मैनू देश नाल प्यार मेरी अमर कहानी, मेरी बहन लक्ष्मीबाई झांसी दी रानी गाकर श्रोताओं में जोश पैदा कर दिया। पंजाबी लोक रंग कार्यक्रम में पंजाब की गायकी ने अपना अलग ही जादू पर बिखेरा। पंजाबी रंगों से सराबोर करते कार्यक्रम में एक के बाद एक बेहतरीन प्रस्तुति ने दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया। कार्यक्रम में कुरुक्षेत्र की गायिका तृष्णा तथा माधविका मदान ने पंजाबी गीत काला शा काला मेरा काला है सरदार गोरेंया नू दफा करो तथा पंजाबी गायिका शीतल ने लट्ठे दी चादर उत्ते सलेटी रंग माहिया गाकर खूब तालियां बटौरी। कार्यक्रम के अंत में पंजाबी कलाकारों ने ऐसा धमाल मचाया कि दर्शक भी खुद को नहीं रोक पाए और कलाकारों के साथ मंच पर थिरकते नजर आए। इसके अतिरिक्त मैक में लोहड़ी मनाई गई। इस अवसर पर मैक से धर्मपाल गुगलानी, सीमा कांबोज, मनीष डोगरा, सनातन विद्यापीठ टस्ट से श¨लद्र पराशर, द्वारिकाधीश संस्था से अविनाश ¨सगला, वंदना ¨सगला, न्यू उत्थान थियेटर ग्रुप से नरेश सागवाल, शिवकुमार किरमिच उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran