8 दिसंबर: आज के दिन ही सहवाग ने जड़ा था वनडे में दोहरा शतक, बने थे रेकॉर्ड

वीरेंदर सहवाग
हाइलाइट्स

  • भारत और वेस्ट इंडीज के बीच इंदौर के होल्कर स्टेडियम में खेला गया वनडे मुकाबला
  • सहवाग ने 149 गेंदों पर बनाए थे 219 रन, तब वनडे का शीर्ष निजी स्कोर बनाया
  • सचिन तेंडुलकर के बाद वनडे में डबल सेंचुरी जड़ने वाले दूसरे बल्लेबाज बने थे सहवाग
  • टीम इंडिया ने वनडे में अपना टॉप स्कोर बनाया, रेकॉर्ड अब भी बरकरार
नई दिल्ली

धुरंधर बल्लेबाजों में शुमार पूर्व भारतीय ओपनर वीरेंदर सहवाग ने 8 दिसंबर 2011 को क्रिकेट की दुनिया में नया रेकॉर्ड बनाया था। वह वनडे क्रिकेट में दोहरा शतक जड़ने वाले सचिन तेंडुलकर के बाद दूसरे बल्लेबाज बने थे। उन्होंने तब 219 रनों की ऐतिहासिक पारी खेली जो तब वनडे क्रिकेट में सबसे बड़ा निजी स्कोर था। इंदौर के होल्कर स्टेडियम में सहवाग ने वेस्ट इंडीज के खिलाफ यह रेकॉर्ड बनाया था।

सहवाग ने अपनी विस्फोटक पारी में 149 गेंदों का सामना किया और 7 छक्के और 25 चौके लगाए। मैदान का शायद ऐसा कोई कोना बचा होगा जहां सहवाग ने शॉट नहीं जड़ा हो। इंदौर के इस मैदान पर सिर्फ सहवाग ने ही रेकॉर्ड नहीं बनाया, बल्कि टीम इंडिया ने भी एक रेकॉर्ड बनाया था। भारत ने यहां पर 418 रन बनाए, जो इंटरनैशनल वनडे क्रिकेट के इतिहास में अब भी उसका सबसे बड़ा स्कोर है।

देखें,
गौतम गंभीर के फेयरवेल मैच में फैंस की दीवानगी

इस मौके पर सहवाग ने कहा कि भगवान उनके साथ है। उन्होंने कहा, ‘जब पावर प्ले शुरू हुआ उसके बाद ही मुझे लगा कि मैं डबल सेंचुरी तक पहुंच सकता हूं। जब सैमी ने मेरा कैच ड्रॉप किया तब तो मैं बिल्कुल समझ गया कि भगवान मेरे साथ है।’

सहवाग को 219 रन के स्कोर पर पोलार्ड ने आउट किया। आउट होने के बाद सहवाग जब पविलियन की तरफ जा रहे थे वेस्ट इंडीज के खिलाड़ी उनसे हाथ मिलाने के लिए भी आए।

सहवाग ने पारी के 44वें ओवर में आंद्रे रसेल की बॉल को कट किया और वह बाउंड्री लाइन से बाहर 4 रन के लिए चली गई। इसके साथ ही खचाखच भरे इंदौर के होलकर स्टेडियम में दर्शक झूम उठे। वेस्ट इंडीज की टीम 265 रन पर ऑलआउट हो गई और भारत ने 153 रन से मैच जीत लिया।