जिले की दस विधान सभा सीटों पर वोटिंग के प्रति दिखा उत्साह

जोधपुर। लोकतंत्र के महापर्व मतदान दिवस पर शुक्रवार को विधानसभा चुनाव के दौरान जोधपुर जिले सहित पूरे संभाग में मतदान के प्रति उत्साह दिखाई दिया। हालांकि कई स्थानों पर धीमी गति से भी मतदान हुआ। छिटपुट घटनाआें को छोडक़र मतदान की प्रक्रिया शांतिपूर्वक हुई। कुछ स्थानों पर सुबह ईवीएम के खराब होने की स्थिति पर मतदान की प्रक्रिया देरी से शुरू हो पाई। सभी प्रत्याशियों का भाग्य इन ईवीएम में बंद हो गया है।

मतगणना 11 दिसंबर को होगी।कड़े सुरक्षा इंतजामों के बीच शुक्रवार सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक राजस्थान विधानसभा के लिए मतदान किया गया। सुबह लोग बड़े उत्साह के साथ मतदान केन्द्रों तक पहुंचे। सर्दी होने के बावजूद कई मतदान केन्द्रों पर लम्बी कतारें लग गई। पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पूर्व नरेश गजसिंह, केन्द्रीय राज्य मंत्री पीपी चौधरी व गजेन्द्रसिंह शेखावत सुबह जल्दी अपना वोट देने मतदान केन्द्रों तक पहुंचे। कई मतदान केन्द्रों पर आठ बजे मतदान शुरू होने से पूर्व ही लम्बी कतारें लग गई। वहीं कई स्थान पर समय पर ईवीएम शुरू नहीं हो पाने के कारण मतदाताओं को इंतजार करना पड़ा। हालांकि थोड़ी देर बाद ईवीएम मेंआई खराबी को दूर कर दिया गया और मतदान शुरू हो गया।

शहर और ग्रामीण क्षेत्रों में अधिकांश केन्द्रों पर मतदान करने के लिए मतदाता तो निर्धारित समय पर पहुंच गए लेकिन मतदान कर्मियों ने उनके आने से पहले मशीनें चैकिंग करके तैयार करने में कोताही बरती, जिसके चलते मतदान केन्द्रों पर लम्बी लाइनें लगने से मतदाताओं को अपनी बारी का इंतजार भी करना पड़ा और इस दौरान कई मशीनें चालू नहीं होने पर उन्होंने आक्रोश भी व्यक्त किया। जैन स्कूल महामंदिर के बूथ संख्या 106 पर जहां पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को मतदान करना था वहां पर सुबह आठ बजे से पहले ही मतदाता पहुंचना शुरू हो गए, लेकिन इस बूथ पर लगी मशीनें चालू ही नहीं हो पाई। इस कारण आठ बजे से शुरू होने वाला मतदान करीब बीस मिनट विलंब से शुरू हुआ। 

पाक विस्थापितों ने दिया वोट: सूरसागर विधानसभा क्षेत्र के काली बेरी स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में भाग संख्या 6 में पाक विस्थापित मतदाता मतदान करने पहुंचे। भारतीय नागरिकता मिलने के बाद पहली बार मतदान करने के लिए आए यहां के निवासियों में विशेष खुशी की लहर देखने को मिली। इन विस्थापितों ने कहा कि अब सरकार भी उनकी परेशानियों को सुनेंगी और क्षेत्र में व्याप्त समस्याओं का निराकरण हो सकेगा। लोगों ने बताया कि मूल समस्याओं बिजली, पानी और सडक़ सहित उनके यहां श्मशान भूमि का अभाव होने के कारण निर्भर रहना पड़ता है। सरकार बनने के बाद वे अपनी मांगे रख कर इन समस्याओं को दूर करवाने के प्रयास करेंगे। 11 बजे तक जोधपुर जिले में सुबह 11 बजे तक 20.05 प्रतिशत मतदान हुआ। इस क्रम में फलोदी में 22, लोहावट में 11, शेरगढ़ में 21, ओसियां में 21.79, भोपालगढ़ में 19.95, सरदारपुरा में 21.20, शहर में 19.94, सूरसागर में 21.63, लूणी में 21 और बिलाड़ा विधानसभ क्षेत्र में 21 प्रतिशत मतदान हुआ। 

1 बजे तक मतदान के पहले पांच घंटों में एक बजे तक जोधपुर सहित पूरे राजस्थान में 41.52 फीसदी मतदान हो चुका था। ग्यारह बजे के बाद सर्दी कम होने के साथ मतदान में तेजी आई। दोपहर एक बजे तक जोधपुर के फलोदी में 46.41, लोहावट में 42.09, शेरगढ़ में 42.50, ओसियां में 44.83, भोपालगढ़ में 38.48, सरदारपुरा में 36.25, जोधपुर शहर में 34.46, लूणी में 41.39, बिलाड़ा में 39.18 व सूरसागर में 39.18 फीसदी मतदान हो चुका था। 3 बजे दोपहर तीन बजे तक जोधपुर के फलोदी में 60.93, लोहावट में 62.97, शेरगढ़ में 62.97, ओसियां में 61.95, भोपालगढ़ में 56.18, सरदारपुरा में 51.77, जोधपुर शहर में 51.61, लूणी में 58.07, बिलाड़ा में 55.91 व सूरसागर में 53.22 फीसदी मतदान हो चुका था। तीन बजे तक पूरे मारवाड़ में सबसे अधिक 71.11 फीसदी मतदान पोकरण में हुआ जबकि जैसलमेर में 70.82 व बाड़मेर के बायतु में 68.13 फीसदी मतदान हुआ। 5 बजे शाम पांच बजे तक जोधपुर के फलोदी में 74. 76, लोहावट में 77.69 , शेरगढ़ में 77.45, ओसियां में 77.24, भोपालगढ़ में 67.81, सरदारपुरा में 65.42, जोधपुर शहर में 64.57, लूणी में 75.52, बिलाड़ा में 69.15 व सूरसागर में 66.56 फीसदी मतदान

जयपुर में प्लॉट: 21000 डाउन पेमेन्ट शेष राशि 18 माह की आसान किस्तों में, मात्र 2.30 लाख Call:09314188188

MUST WATCH & SUBSCRIBE

हुआ।