एक्जिट पोल ने छत्तीसगढ़ में बढ़ाया सियासी सस्पेंस, बताई कांटे की टक्कर

देश के पांच राज्‍यों में विधानसभा चुनाव के तहत मतदान के बाद बीते शुक्रवार शाम को एक्जिट पोल भी आ गए. छत्‍तीसगढ़ चुनाव के लिए एक्जिट पोल जारी करने वाले अलग अलग चैनल व एजेंसियां एकमत नजर नहीं आ रही हैं. कोई भाजपा को तो कोई कांग्रेस को छत्तीसगढ़ में स्पष्ट बहुमत मिलने का अनुमान जता रही हैं. कुछ एजेंसी और चैनल प्रदेश में त्रिशंकु नतीजे आने का अनुमान लगा रहे हैं. शनिवार को छत्तीसगढ़ के अखबारों ने एक्जिट पोल के अनुमानों को प्रमुखता से लिया है और फ्रंट पेज पर जगह दी है. खबरों में बताया गया है कि एक्जिट पोल आने के बाद कैसे सियासी सस्पेंस बढ़ गया है.

(ये भी पढ़ें: ANALYSIS: छत्तीसगढ़ चुनाव में हकीकत के कितने करीब होता है एक्जिट पोल)

नईदुनिया की हेडिंग छत्तीसगढ़- मध्यप्रदेश में में कांटे की टक्कर, राजस्थान में कांग्रेस आगे है. दैनिक भास्कर ने लिखा है- छत्तीसगढ़ में टक्कर, मध्यप्रदेश में कांग्रेस आगे, राजस्थान में भाजपा एक्जिट. सभी अखबारों ने मुख्य एजेंसी और चैनलों के पार्टियों को सीट मिलने के अनुमानित आंकड़े भी दिए हैं. बता दें कि छत्तीसगढ़ विधानसभा की कुल 90 सीटों के लिए प्रमुख 9 एजेंसियों व चैनलों ने अपने सर्वे के आधार पर एक्जिट पोल जारी किए हैं. इनमें से चार ने कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत दिया है, जबकी तीन अन्य ने भाजपा की सरकार चौथी बार बनने की संभावना जताई है. साथ ही दो अन्य ने प्रदेश में त्रिशंकु विधानसभा के आसार जताए हैं.

ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव: 2018 के अखाड़े में क्या टूटेंगे ये मिथक?दिग्गजों ने दिए ये बयान
एक्जिट पोल जाराी होने के बाद आए दिग्गज नेताओं के बयानों को सभी मुख्य अखबारों ने स्थान दिया है. डॉ. रमन सिंह ने कहा कि एक्जिट पोल में भाजपा आगे है और 11 दिसंबर को आने वाले चुनाव परिणाम में भी हम आगे रहेंगे. स्पष्ट बहुमत के साथ भाजपा की सरकार बनेगी. कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने क​हा कि इस बार सत्ता परिवर्तन के लिए जनता ने वोट दिया है. कांग्रेस सरकार बनाने जा रही है. पूर्व अजीत जोगी ने कहा कि मुझे एक्जिट पोल पर विश्वास नहीं है. गलत आंकड़े दिए जा रहे हैं.

ये भी पढ़ें: Exit Poll 2018: एग्जिट पोल ने और उलझाया जीत का गणित!

Loading…

जवानों पर सागौन की अवैध कटाई का आरोप
दैनिक भास्कर ने फोटो सहित फ्रंट पेज पर सुरक्षा बल के जवानों से जुड़ी खबर प्रकाशित की है, जिसमें लिखा है कि कांकेर में बीएसएफ के जवान सागौन और दूसरी बेशकीमती लकड़ियों की अवैध कटाई कराते हैं और उन्हें फर्नीचर बनाने के लिए देते हैं. बीएसएफ 135वीं बटालियन के जवानों पर आरोप लगाया है.

पद्मश्री श्यामलाल चतुर्वेदी का निधन
साहित्यकार और वरिष्ठ पत्रकार पद्मश्री पं. श्यामलाल चतुर्वेदी का शुक्रवार सुबह निधन हो गया. वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे. शहर के निजी अस्पताल में 93 वर्ष की आयु में उन्होंने अंतिम सांस ली. पं. चतुर्वेदी को साहित्य, शिक्षा और पत्रकार में उल्लेखनीय योगदान के लिए इसी वर्ष 3 अप्रैल को राष्ट्रपति भवन हुए समारोह में पद्मश्री अलंकरण से सम्मानित किया गया था. इस खबर को भी दैनिक भास्कर सहित सभी मुख्य अखबारों ने प्रमुखता से स्थान दिया है.

ये भी पढ़ें: Exit Poll: छत्तीसगढ़ में BJP-कांग्रेस किसी भी पाले में गिर सकती है गेंद, त्रिशंकु के भी आसार