वाराणसी / मेनहोल साफ करने उतरे चाचा-भतीजे की जहरीली गैस से दम घुटने से मौत

  • 12 को प्रधानमंत्री दीनापुर एसटीपी का उद्घाटन करने आ रहे हैं, इसी से जुड़ा है यह मेनहोल
  • बिना सुरक्षा संसाधनों के मजदूरों से काम करने के आरोप में पुलिस ने प्रोजेक्ट मैनेजर को गिरफ्तार किया

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2018, 05:45 PM IST

वाराणसी. चौकाघाट पंपिंग स्टेशन के मेनहोल में प्लगिंग के दौरान दो मजदूरों की मौत हो गई। बताया जाता है कि जहरीली गैस के कारण मजदूरों का दम घुट गया। पुलिस ने प्रोजेक्ट मैनेजर को हिरासत में लिया है। मृतक रिश्ते में चाचा-भतीजे बताए जा रहे हैं। इस एसटीपी का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 12 नवंबर को करने वाले थे।

34 करोड़ की लागत से शहर में तीन पम्पिंग स्टेशन बनाए गए है। जिसका उद्घाटन पीएम मोदी 12 नवंबर को करेंगे। इसमें चौकाघाट पंपिंग सेट भी शामिल है। उद्घाटन के मद्देनजर यहां सफाई का काम जारी है। स्टेशन के मेन हाेल में शनिवार दोपहर दो मजदूर कैमूर निवासी विकास व दिनेश उतरे। दोनों प्लगिंग का काम कर रहे थे, लेकिन जहरीली गैस के कारण दोनों मजदूरों का दम घुट गया और उनकी मौत हो गई। आरोप है कि बिना किसी सुरक्षा उपाय के मजदूरों को मेनहोल में उतार दिया गया। 

हादसे की सूचना पाकर परिजन मौके पर पहुंच गए हैं। परिजन अरिवंद ने बताया कि उसके बड़े भाई विकास व चाचा दिनेश मेनहोल में गए थे। चेतगंज इंस्पेक्टर विजेंद्र सिंह ने बताया प्रोजेक्ट मैनेजर पंकज श्रीवास्तव की लापरवाही पाई गयी है। उसे हिरासत में लिया गया है। एनडीआरएफ मौके पर पहुंचकर जेसीबी से मेनहोल तोड़कर शवों को बाहर निकालने का प्रयास कर रही है। 


आरोपी प्रोजेक्ट मैनेजर पंकज श्रीवास्तव ने बताया कि यहां से सीवेज डायवर्ट करके दीनापुर 140 एमएलडी एसटीपी प्लांट भेजा जाएगा। 5 मीटर गहरे मेनहोल के अंदर प्लकिंग खोलने का काम करने दोनों मजदूर गए थे। एक मजदुर का पैर अंदर फिसल गया, दूसरे ने बचाने की कोशिश की और वह भी अंदर चला गया।