रेलवे संपत्ति को नुकसान पहुंचाने और ट्रैक बाधित करने पर 12 पर केस

जागरण संवाददाता, रोहतक : रेलवे स्टेशन पर शुक्रवार रात हुए बवाल के बाद शनिवार को भारी फोर्स तैनात रही। आपात स्थिति से निपटने के लिए फोर्स को रिजर्व में भी रखा गया। फोर्स की मौजूदगी में ही अभ्यर्थी ट्रेन में सवार होकर चंडीगढ़ या अन्य परीक्षा केंद्रों पर पहुंचे। उधर, रेलवे संपत्ति को नुकसान पहुंचाने और आवागमन बाधित करने के मामले में रेलवे पुलिस फोर्स (आरपीएफ) ने 12 आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

बता दें कि शनिवार को चंडीगढ़ समेत प्रदेश के कई अन्य शहरों में ग्रुप-डी की परीक्षा थी। परीक्षा में शामिल होने के लिए शुक्रवार रात बड़ी संख्या में चंडीगढ़ जाने के लिए अभ्यर्थी रेलवे स्टेशन पर पहुंच गए थे। भीड़ अधिक होने के कारण अभ्यर्थियों को ट्रेन में जगह नहीं मिली, जिस पर उन्होंने बवाल शुरू कर दिया था। अभ्यर्थियों ने रेलवे ट्रैक बाधित कर दिया और ट्रेन के इंजन पर भी चढ़ गए। सूचना मिलने पर राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) और आरपीएफ के जवान मौके पर पहुंचे। फोर्स ने लाठियां भांजकर करीब ढाई घंटे बाद ट्रैक को खाली कराया, जिसके बाद अभ्यर्थियों के लिए एग्जाम स्पेशल ट्रेन चलाई गई। इस मामले में 12 आरोपितों पर आरपीएफ ने केस दर्ज किया है। वहीं रविवार को भी ग्रुप-डी की परीक्षा है। इसे देखते हुए रेलवे के साथ-साथ जीआरपी और आरपीएफ ने पहले ही पूरी तैयारी कर ली थी। रेलवे स्टेशन पर भारी फोर्स को तैनात किया गया था। फोर्स की मौजूदगी में ही अभ्यर्थियों को ट्रेन में सवार किया गया। हालांकि शुक्रवार के मुकाबले शनिवार को अभ्यर्थियों की भीड़ कम रही। एग्जाम स्पेशल ट्रेन को लेकर देर रात तक असमंजस

शनिवार को एग्जाम स्पेशल ट्रेन को लेकर रेलवे के अधिकारियों में भी असमंजस की स्थिति बनी रही। जीआरपी की तरफ से रेलवे को लिखा गया था कि दूसरे दिन भी एग्जाम स्पेशल ट्रेन चलाई जाए। मगर देर रात तक रेलवे के अधिकारी भी स्पष्ट नहीं कर पा रहे थे कि एग्जाम स्पेशल ट्रेन चलेगी या फिर नहीं। वर्जन:::::

आरपीएफ थाने में 12 के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। सुरक्षा के मद्देनजर रेलवे स्टेशन पर फोर्स तैनात की गई है। ट्रेन का आवागमन बाधित करने या हंगामा करने वाले के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

नरेश कुमार, थाना प्रभारी, जीआरपी

Posted By: Jagran