'मुझे माफ कर दो, नशे में घिनौना काम हो गया'

संवाद सहयोगी, श्री माछीवाड़ा साहिब : पंजाब में नशे के कारण जान जाने की खबरें तो बहुत सामने आई पर नशे की हालत में कत्ल कर देने के बाद पछताने का मामला संभवता पहली बार सुनने को मिल रहा है। गांव भट्टिया में परगट सिंह ने नशे की हालत में दीवाली वाले दिन लाल बाबू भगत को गंडासे से काट डाला था। आरोपित का अब नशा उतरा तो वह अपने आप को उजड़ा हुआ महसूस रहा था। परगट सिंह पर पहले से ही लड़ाई-झगड़े और चोरी का मामला दर्ज है। कोर्ट ने उसे बरी कर दिया था, जिस कारण उसके हौसले बढ़ गए और ऊपर से नशे का आदी होने के कारण गांव के लोग उसे बुरा ही समझते थे। 7 नवंबर को दीवाली की शाम वह नशे में धुत था। हाथ में गंडासा पकड़ बेखौफ दर्शन सिंह की दुकान पर आया और लाल बाबू भगत पर सैकड़ों वार किए। परगट सिंह ने नशा इस कदर किया था कि उसने लाल बाबू भगत की लाश के चीथड़े उड़ा दिए। गिरफ्तारी के बाद जब परगट सिंह का नशा उतरा तो उसे अहसास हुआ कि उसके हाथों कत्ल हो गया। आरोपित पुलिस से कह रहा था कि उसे माफ कर दो, नशे में उससे यह घिनौना काम हो गया।

घटना देखकर हर कोई है दंग, आरोपित परगट को पुलिस ने भेजा जेल

पुलिस ने शुक्रवार को आरोपित परगट सिंह को अदालत में पेश करने उपरात जेल भेज दिया। घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई और इस खौफनाक मंजर को देखने वाला प्रत्येक व्यक्ति चिंतित था।

Posted By: Jagran