बाड़मेर के पास भीषण सड़क हादसा, छह की मौत

जयपुर, जेएनएन। राजस्थान के बाड़मेर और जालौर जिले की सीमा पर बीती रात भीषण सड़क हादसे मे छह लोगों की मौत हो गई। यहा एनएच-68 पर टैंपो को सामने से आ रहे टैंकर ने टक्कर मार दी। इस दर्दनाक हादसे में 6 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई।

जानकारी के अनुसार शुक्रवार देर शाम गांधव बस स्टैंड के पास नेशनल हाईवे पर सांचैर की ओर से सवारियों से भरा एक टैंपो गाधव की ओर आ रहा था। इस दौरान सामने से तेज गति से आ रहे एक टैंकर के चालक ने लापरवाही से चलाते हुए सवारियों से टैंपो को टक्कर मार दी। दुर्घटना के दौरान टैंकर सवारी से भरे टैंपो के ऊपर चढ़ गया और उसमें सवार लोग बुरी तरह कुचल गए।

दुर्घटना में सांता और बेड़ियां गांव सरहद क्षेत्र के शांति देवी पत्नी बाबूलाल कोली निवासी बेड़िया लाखाराम निवासी गिड़ा, नागजी, भूरी देवी, समेत टैंपो में सवार सभी आठ लोग गंभीर रुप से घायल हो गए, जिसमें से तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गइ। शेष गंभीर घायलों को उपचार के लिए सांचैर रवाना किया गया।

सूचना मिलने पर गुड़ामालानी पुलिस, पुलिस उपाधीक्षक प्यारेलाल मीणा, थाना प्रभारी किसनलाल विश्नोई मौके पर पहुंचे एवं जाम खुलवा कर यातायात को सुचारू करवाया।

 एम्बुलेंस 108 और बस की भिडंत, चार की मौत, नौ घायल

उदयपुर के डूंगरपुर जिले के बिछीवाड़ा मार्ग पर गुरुवार देर रात छापी गांव के निकट एम्बुलेंस 108 और निजी बस के बीच हुई भिडंत में एम्बुलेंस चालक सहित एम्बुलेंस सवार चार लोगों की मौत हो गई। हादसे में नौ लोग घायल हुए हैं। जिनमें से गंभीर घायल पांच जनों को जिला अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद उदयपुर रैफर किया गया है। हादसे से आक्रोशित ग्रामीणों ने निजी बस से सवारियों को नीचे उतार उसको आग के हवाले कर दिया। घटना के बाद मौके पर अफरा-तफरी मच गई तथा लोग बदहवास हालत में अपने-अपने रिश्तेदारों की टोह लेते रहे। घायलों को अन्य एम्बुलेंस के जरिए जिला अस्पताल पहुंचाया गया।

मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को कनबा में आयोजित एक समारोह में भाग लेकर बंजारिया निवासी बाबूलाल मेघवाल एवं उसकी पत्नी तुलसी स्कूटी से बंजारिया लौट रहे थे। हाईवे पर आमझरा रिजवा घाटी के निकट स्कूटी अनियंत्रित होकर गड्ढ़े में जा गिरी। इससे दंपती घायल हो गए थे। उन्हें एम्बुलेंस 108 की मदद से उपचार के लिए बिछीवाड़ा चिकित्सालय में प्राथमिक उपचार के बाद डूंगरपुर ले जाया जा रहा था। साथ में उनके रिश्तेदार थी एम्बुलेंस में सवार थे।

डूंगरपुर पहुंचने से पहले छापी गांव के निकट डूंगरपुर से अहमदाबाद तरफ तेज गति से जा रही निजी बस से एम्बुलेंस से टकराई। घटना में एम्बुलेंस क्षतिग्रस्त हो गई तथा उसके चालक भरतपुर निवासी थानसिंह और बंजारिया निवासी कोकिला पत्नी कोदर मेघवाल की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि घटना में घायल बंजारिया निवासी ललिता पत्नी बाबूलाल और उसके बेटे साहिल की मौत अस्पताल में हुई। हादसे के बाद बस चालक एवं परिचालक घटनास्थल से फरार हो गए।

यह हुए घायल

हादसे में एम्बुलेंस में सवार सरोज पत्नी चन्द्रशेखर मेघवाल, बोखला निवासी सूर्या पत्नी दिनेश यादव,एम्बुलेंस 108 के बांसवाड़ा निवासी ईएमटी मीतेष भावसार , बंजारिया निवासी गुडिया पुत्री कोदर तथा रानी पुत्री कोदर मेघवाल जो एम्बुलेंस 108  में सवार थे घायल हो गए। वहीं बस में सवार भिण्डा निवासी जीवराम पुत्र मनजी यादव , उसकी पत्नी करिश्मा तथा पुत्र चन्द्र भी घायल हो गए। इन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। जिनमें से गंभीर घायल सरोज मेघवाल, बाबूलाल मेघवाल, सूर्या, मितेष भावसार तथा तुलसी को उदयपुर रेफर किया गया है।

आक्रोशित ग्रामीणों ने बस को आग लगाई हादसे से आक्रोशित ग्रामीणों ने बस में सवार सवारियों को नीचे उतारा तथा उसमें आग लगा दी। इस घटना से छापी गांव में अफरा-तफरी मच गई। सूचना पर बिछीवाड़ा थाना प्रभारी सुनील शर्मा मय जाब्ता मौके पर पहुंचे तथा दमकल बुलाई लेकिन तब तक बस पूरी तरह जल चुकी थी। पुलिस उपाधीक्षक गोपालसिंह भाटी भी मौके पर पहुंचे तथा जिला मुख्यालय से अतिरिक्त पुलिस बल भी मौके पर पहुंचा तथा हालात को नियंत्रण में किया। पुलिस ने एम्बुलेंस में फंसे उसके चालक थानसिंह एवं कोकिला के शवों को काफी मशक्कत कर निकाला, जो उसमें बुरी तरह फंस गए थे।

Posted By: Preeti jha