पुरानी पेंशन बहाली के लिए शिक्षकों ने भरी हुंकार

जासं, रायबरेली : पुरानी पेंशन की बहाली को लेकर चल रहे आंदोलन के दूसरे चरण का आगाज शनिवार को विकास भवन में हुआ। इसके तहत चेतना रैली के दौरान उमड़े शिक्षकों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर आवाज बुलंद की। चेतावनी दी कि यदि हक नहीं मिला तो आंदोलन तेज किया जाएगा।

संयुक्त संघर्ष संचालन समिति (एस-फोर) के संरक्षक अभिमन्यु तिवारी की अध्यक्षता में चेतना रैली विकास भवन में हुई। इसमें प्रदेश के 14 संगठनों के पदाधिकारी शामिल हुए। संरक्षक ने कहा कि 20 दिसंबर को लखनऊ के ईको गार्डन में होने वाले आंदोलन में पूरी ताकत लगा देंगे। सरकार को बता देंगे कि बिना पुरानी पेंशन लागू किए कोई भी सत्ता में चैन से नहीं रह सकता है। आवश्यकता पड़ी तो प्रदेश की जेलों को भर देंगे। जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष योगेश त्यागी ने कहा कि कुछ संगठनों ने केवल कर्मचारी-शिक्षकों के साथ धोखा ही किया है। यह संगठन पुरानी पेंशन बहाली तक हर स्तर पर लड़ता रहेगा।

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के प्रांतीय महामंत्री आरके निगम ने कहा कि सत्ता में वही सरकार रहेगी, जो पुरानी पेंशन को बहाल करेगी। इसके लिए कर्मचारी और शिक्षक गांव-गांव जाकर जागरूक करेंगे। उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रांतीय अध्यक्ष सुशील पांडेय ने कहा कि जिले के शिक्षक और कर्मचारी आंदोलन में बढ़-चढ़कर शामिल होंगे। अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ के राष्ट्रीय सचिव संजय मिश्र ने कहा कि प्राथमिक शिक्षक संघ दिसंबर माह से दिल्ली में अनवरत पुरानी पेंशन बहाली तक आंदोलन करेगा। कार्यक्रम का संचालन शैलेश यादव ने किया। इस अवसर पर विनय ¨सह, विनोद कुमार यादव, धर्मेंद्र शर्मा, सुनील यादव आदि मौजूद रहे। चेतना रथ का त्रिपुला चौराहे पर स्वागत

प्राथमिक शिक्षक संघ के जनपदीय अध्यक्ष बृजेंद्र ¨सह राठौर, शिवशरन ¨सह, जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ जिलाध्यक्ष समर बहादुर ¨सह, महामंत्री राघवेंद्र यादव ने 50 वाहनों के काफिले के साथ त्रिपुला चौराहे पर चेतना रथ का स्वागत किया। इसके बाद जगह-जगह शिक्षकों को जागरूक किया गया।

Posted By: Jagran