नई वेब सीरीज़ में शिवगामी ही बाहुबली है

सिनेमा


 |  4-मिनट में पढ़ें  |   10-11-2018

अगर आपको लगता है कि बाहुबली का बुखार अब ठंडा हो गया है, तो आप गलत हैं. क्योंकि बाहुबली उस जुनून का नाम है जो कभी खत्म नहीं होता. और इस जुनून को एक बार फिर पर्दे पर लाने की घोषणा की है नेटफ्लिक्स ने. नेटफ्लिक्स ने एशियन मार्केट को बढ़ावा देने के लिए 17 नई वेबसीरीज़ की घोषणा की है. इन 17 वेबसीरीज़ में से 9 भारत की हैं और 9 में से एक और सबसे खास है ‘Baahubali: Before the Beginning’. इसे एसएस राजामौली की फिल्म बाहुबली का प्रीक्वल कहा जा रहा है. प्रीक्वल यानी इससे पहले की कड़ियां. समझिए कि इस वेबसीरीज़ में राजामौली की फिल्म बाहुबली के पहले का हिस्सा दिखाया जाएगा.

bahubaliनेटफ्लिक्स लेकर आ रहा है राजामौली की फिल्म ‘बाहुबली’ का प्रीक्वल

सीज़न 1 में 9 एपिसोड होंगे. जो आनंद नीलकंठन की किताब ‘The Rise of Sivagami’ पर आधारित होगी. ये सीरीज़ पूरी तरह से रानी शिवगामी पर ही आधारित होगी. एक विद्रोही और प्रतिशोध लेने वाली लड़की से एक बुद्धिमान रानी बनने तक का सफर दिखाएगी ये वेब सीरीज़.

शिवगामी को समझना जरूरी है

आपको याद होगा जब आपने फिल्म बाहुबली देखी थी, उसमें रानी शिवगामी का किरदार निभाया था रमैया कृष्णन ने. उन्होंने अपने प्रभावशाली अभिनय से इस किरदार के साथ पूरा न्याय किया था. शिवगामी का किरदार दबंग है. वो अपने बेटे और बाहुबली में कोई फर्क नहीं करती. दोनों बेटों को सत्‍ता तक पहुंचने के लिए बराबरी का मौका देती है. वह सत्‍ता से दूर रहकर देश चलाती है, और न्‍याय-वचन की बात करती है. लेकिन आखिर में एक साजिश का शि‍कार होकर अपने बेटे की हत्‍या करवा देती है.

sivagamiनेटफ्लिक्‍स की ये सीरीज शिवगामी को महिला-सुपरहीरो की तरह पेश करेगी

बाहुबली 1 और बाहुबली 2, दोनों ही फिल्‍मों में न्‍याय की बात करने वाली शिवगामी आखिर में अभागी विलेन बन जाती है, और दर्शक यही सोचता है कि शिवगामी अगर सूझबूझ से काम लेती तो बाहुबली की मौत नहीं होती. यहां शिवगामी महान होते हुए भी दर्शकों की नजरों में वो सम्मान नहीं पा सकी जिसकी वो हकदार थी. क्योंकि तब हीरो बाहुबली था और उसकी मौत के पीछे कहीं न कहीं शिवगामी ही थी. लेकिन नेटफ्लिक्‍स की ये सीरीज शिवगामी को महिला-सुपरहीरो की तरह पेश करेगी. जिससे शिवगामी के किरदार को भी न्याय मिल सकेगा.

शिवगामी के किरदार को दोबारा रचना चुनौती से कम नहीं

इस सीरीज़ में शिवगामी का किरदार मृणाल ठाकुर निभाने वाली हैं, जो पहले टीवी सीरियल में दिखीं और हाल ही में फिल्म ‘लव सोनिया’ में. शिवगामी का किरदार जिसे फिल्म में रमैया ने निभाया था वो उनके अब तक के करियर का सर्वश्रेष्ठ अभिनय था.

sivagamiशिवगामी के किरदार को निभाना आसान नहीं है

शिवगामी का तेज उसकी आंखो में दिखाई देता था. और भाव ऐसे जो देखने वालों के शरीर को ऊर्जा से भर देते थे. उसपर उनका वो जानदार डायलॉग ‘मेरा वचन मेरा शासन’…जैसे बस वही शक्ति है. मृणाल के लिए वैसा ही जादू बिखेरना किसी चुनौती से कम नहीं होगा. क्योंकि जो मार्क रमैया इस किरदार के लिए सेट कर चुकी हैं, उससे कम में बात नहीं बनने वाली, इसलिए मृणाल को इस किरदार के साथ न्याय करने के लिए बहुत ज्यादा मेहनत करनी होगी.

mrunal thakurमृणाल ठाकुर के लिए ये कड़ी चुनौती है

मृणाल ठाकुर के अलावा, राहुल बोस इस वेब सीरीज में स्कंददास के रोल में नजर आएंगे. वहीं अतुल कुलकर्णी, वकार शेख, जमील खान, सिद्धार्थ अरोड़ा, अनूप सोनी भी इस सीरीज़ में अपने अभिनय का जौहर दिखाएंगे.

दर्शकों की पसंद को ध्यान में रखते हुए ही नेटफ्लिक्स ने मील का पत्थर साबित हुई फिल्म बाहुबली को चुना. इससे इस बात की चिंता भी खत्म हो जाती है कि ये सीरीज़ लोगों को पसंद आएगी या नहीं, क्योंकि फिल्म तो सारे रिकॉर्ड ध्वस्त कर चुकी है. बाहुबली देखने के बाद लोगों की उम्मीदें बाहुबली से बहुत ज्यादा हैं, इसलिए सीरीज़ बनाने वाले भूलककर भी ये न समझें कि ये फिल्म का प्रीक्वल है इसलिए कम में भी काम चल जाएगा. उन्हें इस बात का ध्यान रखना होगा कि दर्शकों की उम्मीदों पर खरा उतरने के लिए उनका मुकाबला किसी वेबसीरीज़ से नहीं बल्कि खुद राजामौली की फिल्म ‘बाहुबली’ से ही है.

ये भी पढ़ें-  

उम्मीद है अक्षरा हसन भी निजी तस्वीरों के ‘लीक’ होने से कुछ सीखेंगी

निहलानी को आखिर उनके कर्मों की सजा मिल ही गई

केदारनाथ फिल्म की कहानी मंदिर के पुजारी तक पहुंचकर ‘लव जिहाद’ बन गई